कम खर्च में केदारनाथ की यात्रा कैसे करें | Kedarnath Trip Budget In Hindi.

आज के इस ब्लॉग में मैं आपको “कम खर्च में केदारनाथ मंदिर की यात्रा कैसे करें” के बारे में सबकुछ बताने वाला हूं। यहां पर मैंने खाने-पीने, रहने, टैक्सी और बस के किराए वगैरह सभी चीजों के बारे में जिक्र किया गया है, लेकिन मैं आपको इस ब्लॉग में हरिद्वार से केदारनाथ मंदिर की यात्रा को कम खर्च में पूरा करने के बारे में जानकारी दूंगा।

आप हरिद्वार के अलावा देश के किसी भी कोने से केदारनाथ धाम की यात्रा करने जा रहे हैं, तो आप अपने शहर से हरिद्वार जाने और वापस लौटने के खर्च के बारे में अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त कर लें, ताकि मैं जो हरिद्वार से केदारनाथ जाने और वापस केदारनाथ से हरिद्वार आने का खर्च बताऊंगा, ताकि आप उस हिसाब से अपना बजट तैयार कर सकें। आइए अब विस्तार से जानते हैं कि कम खर्च में केदारनाथ मंदिर की यात्रा कैसे करें?

हरिद्वार से केदारनाथ मंदिर की यात्रा कम खर्च में कैसे करें ? – kedarnath jane ka kharcha

सबसे पहले तो आप यह जान लीजिए कि केदारनाथ मंदिर की यात्रा करने के लिए सबसे पहले आपको हरिद्वार जाना पड़ेगा, जो देश के दिल्ली जैसे बड़े शहरों से सड़क और रेल मार्ग से काफी अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। हरिद्वार जाने के लिए आप ट्रेन और बस दोनों में से कोई भी सुविधा ले सकते हैं।

हरिद्वार से केदारनाथ मंदिर जाने के लिए सोनप्रयाग तक रेगुलर बस चलती है, जिसका किराया एक व्यक्ति का ₹ 800 के आसपास है। अगर आप बस, टैक्सी या खुद की कार से केदारनाथ मंदिर की यात्रा पर जाते हैं, तो आपको सोनप्रयाग में ही अपनी गाड़ी पार्क करनी पड़ेगी और सोनप्रयाग से गौरीकुंड के बीच के 5 किमी. की यात्रा आपको टैक्सी द्वारा कम्प्लीट करनी पड़ेगी।

अब आप सोंच रहे होंगे कि जब सोनप्रयाग से गौरीकुंड टैक्सी जा सकती है, तो हमारी खुद की कार, रेंटल टैक्सी, शेयर टैक्सी या बस क्यों नहीं जा सकती है। इसका कारण यह है कि जो सोनप्रयाग से गौरीकुंड तक टैक्सी चलती है, वह टैक्सी वहां की लोकल होती है और वहां के लोकल लोग अपनी खुद की कमाई करने के लिए दूसरे जगह की टैक्सी, बस और यहां तक कि दूसरे की कार वगैरह को भी गौरीकुंड नहीं ले जाने देते हैं। वे लोग सोनप्रयाग से गौरीकुंड तक अपनी खुद की ही टैक्सी चलाते हैं, जिसका किराया ₹ 30 के आसपास रहता है।

Day-1 (हरिद्वार से सोनप्रयाग) –

पहले दिन आप हरिद्वार से सुबह बस पकड़कर सोनप्रयाग जा सकते हैं, जिसका किराया एक व्यक्ति का ₹ 800 के आसपास रहता है, लेकिन ध्यान रहे आप जिस दिन हरिद्वार पहुंचे हैं, उसी दिन शाम को हरिद्वार से सोनप्रयाग जाने वाली बस की टिकट बुक करा लें, क्योंकि केदारनाथ मंदिर की यात्रा के सीजन में सुबह हरिद्वार से सोनप्रयाग जाने वाली बस में जगह नहीं बच पाती है और कहीं ऐसा ना हो कि ज्यादा भीड़ होने की वजह से आपको उस दिन सोनप्रयाग जाने के लिए बस भी ना मिले।

बस ना मिलने के झंझट से बचने के लिए आप सोनप्रयाग जाने से एक दिन पहले ही बस का टिकट बुक करा लें, ताकि आप समय से सोनप्रयाग पहुंच सकें और रात को ठहरने के लिए रूम वगैरह ढूंढ सकें।

(इन्हें भी पढ़ें:- 1. केदारनाथ कि यात्रा पर जाते समय क्या-क्या लेकर जाना चाहिए

2. हेलीकॉप्टर से केदारनाथ की यात्रा कैसे करें)

हरिद्वार से सोनप्रयाग जाने के लिए सुबह 4 बजे से ही बस खुलने लगती है, इसलिए आप जितना जल्दी हो सके हरिद्वार से सोनप्रयाग जाने के लिए बस पकड़ लें। सोनप्रयाग पहुंचने के बाद आप सबसे पहले बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन के ऑफिस चले जाएं, क्योंकि बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन का ऑफिस शाम 5 बजे के बाद बंद हो जाता है और फिर सुबह 5 बजे खुलता है।

अगर आप अपना बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन सोनप्रयाग जाने वाले दिन शाम की जगह अगले दिन सुबह में करवाते हैं, तो आपको ऑफिस के बाहर लाइन में खड़ा होना भी पड़ सकता है और उसके बाद आपको सोनप्रयाग से गौरीकुंड जाने के लिए भी टैक्सी के लिए लंबी लाइन में खड़ा होना पड़ेगा, जिससे आपको केदारनाथ पहुंचने में काफी देर हो सकती है।

अगर आपको सुबह में बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन कराने में ज्यादा देर हो गई, तो आपको केदारनाथ मंदिर पहुंचने में अंधेरा भी हो सकता है, क्योंकि गौरीकुंड से केदारनाथ मंदिर की दूरी लगभग 16-18 किमी. है। इस 16-18 किमी. की दूरी को आपको पैदल ट्रेक करके ही कम्प्लीट करना पड़ेगा। इस 16-18 किमी. की दूरी को कम्प्लीट करके आप केदारनाथ जितना देर से पहुंचते हैं, वहां पर आपको होटल वगैरह उतना ही महंगा मिलेगा।

अगर आप ऊपर बताए गए सभी तकलीफों से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो जब आप हरिद्वार से सोनप्रयाग शाम 5 बजे से पहले पहुंच जाते हैं, तो आप उसी समय बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन करवा लें।

बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद आप सोनप्रयाग में होटल की जगह डॉरमेट्री लेकर रात को ठहर सकते हैं, जिसका किराया ₹ 250 के आसपास होता है। डॉरमेट्री में ठहरने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं को एक गद्दा, तकिया और कम्बल या रजाई दे दिया जाता है। अगर आप सस्ते में केदारनाथ की यात्रा करना चाहते हैं, तो आपको डॉरमेट्री में ही रात को ठहरना चाहिए। सोनप्रयाग के किसी रेस्टोरेंट में खाना खाने के बाद आप डॉरमेट्री में अपनी रात बिता सकते हैं। डॉरमेट्री में भी आपको केदारनाथ मंदिर के दर्शन करने वाले बहुत सारे तीर्थयात्री देखने को मिल जाएंगे।

Day-2 (सोनप्रयाग से गौरीकुंड और गौरीकुंड से केदारनाथ मंदिर) –

सोनप्रयाग से गौरीकुंड जाने के लिए आप सुबह 3 या 4 बजे ही सोनप्रयाग के टैक्सी स्टैंड चले जाएं, वरना आप सोनप्रयाग के टैक्सी स्टैंड जाने में जितना देर करेंगे, आपको केदारनाथ मंदिर जाने में उतना ही देर होगा। इसलिए आप सुबह 3 या 4 बजे ही सोनप्रयाग के टैक्सी स्टैंड चले जाएं और वहां से टैक्सी पकड़कर गौरीकुंड पहुंचने के बाद केदारनाथ की यात्रा शुरू कर दें। गौरीकुंड से केदारनाथ मंदिर की दूरी लगभग 16-18 किमी. है। अगर आप कम खर्च में केदारनाथ मंदिर की यात्रा करना चाहते हैं, तो गौरीकुंड से केदारनाथ मंदिर की यात्रा आपको पैदल ट्रेक करके ही पूरा करना होगा।

गौरीकुंड से पैदल ट्रेक करके केदारनाथ मंदिर जाते हुए आपको बहुत सारे युवा और वृद्ध व्यक्ति खासकर वृद्ध महिलाएं देखने को मिल जाएंगी, जिनके साथ आप भगवान शिव के जय जयकार करते हुए आसानी से केदारनाथ मंदिर पहुंच सकते हैं।

नोट:- केदारनाथ के रास्ते में जगह-जगह पर पीने वाले पानी और कुछ खाने के लिए रेस्टोरेंट्स की व्यवस्था कराई गई है। रास्ते में जगह-जगह पर बाथरूम की व्यवस्था भी है।

भगवान शिव के भक्तों को केदारनाथ मंदिर में स्थापित भगवान शिव के शिवलिंग का दर्शन शाम 5 बजे के बाद नहीं करने दिया जाता है। शाम 5 बजे के बाद केदारनाथ मंदिर के बाहर से ही आपको शिवलिंग का दर्शन करना पड़ेगा। इसलिए अगर आप शाम 5 बजे से पहले केदारनाथ मंदिर पहुंच जाते हैं, तो आप शिवलिंग के दर्शन कर सकते हैं, वरना दोबारा आपको सुबह में शिवलिंग के दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी।

केदारनाथ पहुंचने के बाद आप वहां पर टेंट में ही रुकें, जिसका किराया 24 घंटे का ₹ 300 के आसपास होता है। अगर आपको टेंट में रुकने की सुविधा ना मिले, तो आप वहां GMVN के होटल में ठहर सकते हैं, जिसका प्रति व्यक्ति किराया ₹ 500 है। केदारनाथ मंदिर के आसपास के रेस्टोरेंट्स और होटल्स में खाना थोड़ा ज्यादा महंगा है। वहां पर आपको ब्रेकफास्ट का ₹ 100 और डिनर/लंच का ₹ 150 देना पड़ सकता है।

रात में खाना खाने के बाद आप जल्दी सो जाएं और सुबह जल्दी उठकर भगवान शिव के दर्शन करने के लिए चले जाएं, क्योंकि मंदिर के बाहर सुबह 3 बजे से ही दर्शन करने के लिए लाइन लगी होती है।

(इन्हें भी पढ़ें:- 1. पटना से केदारनाथ कैसे पहुंचे।

2. दिल्ली से केदारनाथ कैसे जाएं)

Day-3 (केदारनाथ से गौरीकुंड और गौरीकुंड से सोनप्रयाग) –

केदारनाथ मंदिर के दर्शन करने के बाद आप सुबह ब्रेकफास्ट करके गौरीकुंड के लिए अपनी यात्रा शुरू कर दें। अगर आपको गौरीकुंड आते-आते शाम या फिर अंधेरा भी हो जाए, तो इसमें घबराने की कोई बात नहीं है, क्योंकि गौरीकुंड से सोनप्रयाग के बीच रात के 10 बजे तक शेयर टैक्सी की आवाजाही लगी रहती है। केदारनाथ मंदिर से गौरीकुंड आकर आप वहां से सोनप्रयाग के लिए शेयर टैक्सी पकड़ लें।

सोनप्रयाग आने के बाद आप वहां किसी डॉरमेट्री या फिर GMVN के द्वारा उपलब्ध कराए गए होटल ले सकते हैं और किसी रेस्टोरेंट में खाना खाने के बाद उसी डॉरमेट्री या होटल में रात को ठहर सकते हैं।

Day-4 (सोनप्रयाग से हरिद्वार) –

सोनप्रयाग में ब्रेकफास्ट वगैरह करने के बाद आप वहां से हरिद्वार के लिए बस पकड़ सकते हैं। अगर हरिद्वार आने के बाद वहां से आपके शहर के लिए बस या ट्रेन की सुविधा मिल जाए, तो आप अपने शहर के लिए रवाना हो सकते हैं या फिर हरिद्वार में होटल ले सकते हैं और सुबह में ब्रेकफास्ट करके अपने शहर के लिए बस या ट्रेन पकड़ सकते हैं।

हरिद्वार से केदारनाथ मंदिर जाने और वापस हरिद्वार आने का कुल खर्च –

Day-1 (हरिद्वार से सोनप्रयाग) –

हरिद्वार – सोनप्रयाग (बस) – ₹ 800

दोनों तरफ – ₹ 800 + ₹ 800 = ₹ 1600

ब्रेकफास्ट (₹ 50) + लंच (₹ 100) + डिनर (₹ 100) = ₹ 250

सोनप्रयाग (रात को डॉरमेट्री में ठहरने) – ₹ 250

Day-2 (सोनप्रयाग से गौरीकुंड और गौरीकुंड से केदारनाथ मंदिर) –

सोनप्रयाग – गौरीकुंड (टैक्सी) – ₹ 30

दोनों तरफ – ₹ 30 + ₹ 30 = ₹ 60

गौरीकुंड से केदारनाथ मंदिर –

ब्रेकफास्ट – ₹ 100 + लंच – ₹ 150 + डिनर – ₹ 150) = ₹ 400 (केदारनाथ मंदिर के पास खाने-पीने का प्राइस थोड़ा महंगा होता है।)

टेंट (केदारनाथ मंदिर के पास) – ₹ 300

या फिर GMVN होटल – ₹ 500 (केदारनाथ मंदिर)

Day-3 (केदारनाथ से गौरीकुंड और गौरीकुंड से सोनप्रयाग) –

केदारनाथ मंदिर – गौरीकुंड

ब्रेकफास्ट – ₹ 100 (केदारनाथ) + लंच – ₹ 100 + डिनर ₹ 100 (सोनप्रयाग) = ₹ 300

सोनप्रयाग (रात को डॉरमेट्री में ठहरने) – ₹ 250

या फिर GMVN का होटल – ₹ 400 (सोनप्रयाग)

Day-4 (सोनप्रयाग से हरिद्वार) –

ब्रेकफास्ट – ₹ 100 (सोनप्रयाग) + लंच – ₹ 100 + डिनर – ₹ 150 (हरिद्वार) = ₹ 350

हरिद्वार में होटल – ₹ 700-800

नोट:- सोनप्रयाग से बस द्वारा हरिद्वार जाने का किराया मैंने ऊपर में ही जोड़ दिया है। तो चलिए अब हरिद्वार से केदारनाथ मंदिर यात्रा का पूरा खर्च जोड़ लेते हैं।

अगर आप सोनप्रयाग से हरिद्वार आने के बाद उसी दिन अपने शहर के लिए रवाना हो जाते हैं, तो हरिद्वार में होटल का किराया आपका बच जाएगा।

Day – 1 – ₹ 1600 (बस) + ₹ 250 (भोजन) + ₹ 250/400 (सोनप्रयाग के डॉरमेट्री/GMVN के होटल का किराया) = ₹ 2100/2250

Day-1 का कुल खर्च ₹ 2250 मान लेते हैं, ताकि अगर सोनप्रयाग में डॉरमेट्री ना मिले, तो आप GMVN के होटल में ही रात को ठहर सकें।

Day – 2 – ₹ 60 (taxi) + ₹ 400 (भोजन) + ₹ 300/500 (टेंट/GMVN का होटल – केदारनाथ मंदिर के पास) = ₹ 760/960

Day-2 के कुल बजट को ₹ 950 मान लेते हैं।

Day – 3 – ₹ 300 (भोजन) + ₹ 250/400 (सोनप्रयाग के डॉरमेट्री/GMVN के होटेल का किराया) = ₹ 550/700

Day-3 के कुल बजट को ₹ 700 मान लेते हैं।

Day – 4 – ₹ 350 (भोजन) +₹ 800 (होटल) = ₹ 1150

कुल खर्च – Day-1 (₹ 2250) + Day-2 (₹ 950) + Day-3 (₹ 700) + Day-4 (₹ 1150) = ₹ 5050

यानी की आप ₹ 5000 तक हरिद्वार से केदारनाथ मंदिर की यात्रा कर सकते हैं। अगर आप चौथे दिन हरिद्वार से होटल लेने की बजाए अपने शहर के लिए रवाना हो जाते हैं, तो आपके लगभग ₹ 700-800 बच जाएंगे।

आशा करता हूं कि “kedarnath jane me kitna kharcha aata hai, kedarnath jane ka kharcha, कम खर्च में केदारनाथ की यात्रा कैसे करें” के बारे में दी गई यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर इस पोस्ट से संबंधित आपका कोई सवाल हो, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। मैं आपको जवाब देने की कोशिश जरूर करूंगा।

धन्यवाद।

इन्हें भी पढ़ें:-

RELATED ARTICLES

34 COMMENTS

  1. बहुत बहुत धन्यवाद आपणे पुरे विस्तारसे बडीया जाणकारी दि है .????????????

    • केदारनाथ मंदिर में बहुत ठंड होती है तो क्या वहां पर ठंड के कपड़े लेकर जाना पड़ता है

  2. मैं 66 वर्षीय पुरुष हूं श्री केदारनाथ जी का दर्शन helicopter से करना चाहते हैं कंहा से सस्ता होगा और helicopter booking कैसे करें…

  3. Bhut achhi jankari di aapne.. good…but ye bhi bataiye ki ydi gouri kund se by flight Jana chahein to yah vyavastha hai vahan aur Kitna kharch hoga

  4. विस्तार से समझाया आपने अच्छा लगा ,और बजट भी समझ आ गया धन्यवाद

  5. What is the convenient month for kedarnath yatra, which have less crowd.

    Please reply as soon as possible.

  6. Kedarnath jana hai hamen vahan ka koi contact number mil sakta hai jisse aasani se jaane mein koi asuvidha Na Ho

  7. Kedarnath dham jane ke liye kitne din pehle registration karna hoga aur sonprayag me bhi karna jaruri hai

  8. केदार नाथ जाने के लिये हरिद्वार मे बस टिकट कहा मिलेगा

  9. Bahut hi achcha bataya aapane Kedarnath Yatra ke bare mein बहुत-बहुत dhanyvad

  10. हेलो सर.. आपका सुझाव काफी प्रोत्साहन भरी है. आपके सुझाव से हौसला बुलंद होगाया. जो न जा पाये वो भी जाने को तैयार हो जायेगा. आपका ब्लॉग भटकने नहीं देगा!
    धन्यवाद सर

    • ऐसे ही प्यार बनाए रहें गुप्ता जी. कमेंट करने के लिए आपको शुक्रिया।

  11. आपका बहुत बहुत धन्यवाद जानकारी देने के लिये🙏🙏🙏🙏🙏

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

RANDOM POSTS